खिलाफत और बर्रेसगीरे हिन्द (भाग - 2)

खिलाफत और बर्रेसगीरे हिन्द (भाग - 2) मुहम्मद शाह हम्दानी (तृतिय) [1463-1482] उस्मानी खलीफा सुल्तान मुहम्मद दोम को यहाँ से खिराज भेजा कर...
READ MORE +
हिज़्बुत्तहरीर एक राजनैतिक संघठन है, इसका हिंसा से कोई सम्बन्ध नहीं है

हिज़्बुत्तहरीर एक राजनैतिक संघठन है, इसका हिंसा से कोई सम्बन्ध नहीं है

पी आर न: १००३९ तारीख मंगल 25 रजब, 1431 हिजरी 6/07/2010 प्रेस स्टेटमेंट हिज़्बुत्तहरीर एक राजनैतिक संघठन है, इसका हिंसा से कोई सम्बन्ध न...
READ MORE +

विदेशी सहायता: गुलामी का रास्ता (मुकम्मल लेख)

विदेशी सहायता: गुलामी का रास्ता बडे पूंजीवादी देश जैसे अमरीका, केनाडा और ब्रिटेन, मुस्लिम देशो के दी जाने वाली सहायता को एक दान की हैसियत...
READ MORE +

भारत के सामने चेलेंज़ेस की भीषण बाढ: भाग - 2

भारत के सामने चेलेंज़ेस की भीषण बाढ: भाग - 2 भारत की भ्रमित करने वाली सुबह भारत अपने आप मे एक अनोखी या नऐ किस्म की आर्थिक व्यवस्था का प...
READ MORE +

इस्लामी सियासत

इस्लामी सियासत
इस्लामी एक मब्दा (ideology) है जिस से एक निज़ाम फूटता है. सियासत इस्लाम का नागुज़ीर हिस्सा है.

मदनी रियासत और सीरते पाक

मदनी रियासत और सीरते पाक
अल्लाह के रसूल (صلى الله عليه وسلم) की मदीने की जानिब हिजरत का मक़सद पहली इस्लामी रियासत का क़याम था जिसके तहत इस्लाम का जामे और हमागीर निफाज़ मुमकिन हो सका.

इस्लामी जीवन व्यवस्था की कामयाबी का इतिहास

इस्लामी जीवन व्यवस्था की कामयाबी का इतिहास
इस्लाम एक मुकम्म जीवन व्यवस्था है जो ज़िंदगी के सम्पूर्ण क्षेत्र को अपने अंदर समाये हुए है. इस्लामी रियासत का 1350 साल का इतिहास इस बात का साक्षी है. इस्लामी रियासत की गैर-मौजूदगी मे भी मुसलमान अपना सब कुछ क़ुर्बान करके भी इस्लामी तहज़ीब के मामले मे समझौता नही करना चाहते. यह इस्लामी जीवन व्यवस्था की कामयाबी की खुली हुई निशानी है.